स्वामी केशवानंद मेमोरियल पब्लिक स्कूल

Grammothan Vidyapeeth Sangaria

एस.के.एम. पब्लिक स्कूल ग्रा.वि. संगरिया की स्थापना वर्तमान अध्यक्ष , ग्रामोत्थान विद्यापीठ संगरिया चौ.अभय सिंह चौटाला द्वारा इलाके वासियो की मांग पर की गई। काफी समय से संगरिया कस्बे में अंग्रेजी माध्यम स्कूल की आवश्यकता थी। लोगों का बच्चे को पढाने के लिये देहरादून मंसूरी, चंडीगढ भेजना पड़ता था। अध्यक्ष महोदय की इच्छा थी कि वहीं शिक्षा, कम खर्च यहीं मिले और स्वामी केशवानंद की इच्छा पूर्ण हो।चौ. अभय सिंह चौटाला और उनकी टीम ने 1996 में संस्था के संचालन का भार संभाला था और सर्वप्रथम इस वि़द्यालय का शुभांरभ किया था।
शुरू में 140 छात्रों के साथ छोटा सा पौधा लगाया गया था। जो अब वटवृक्ष का रूप धारण कर चुका है। वर्तमान में लगभग 1200 छात्र-छात्राएं अध्ययन कर रहे हैं। संगरिया शहर से 30 किलोमीटर के दायरे में चारो तरफ गावों में विद्यालय की बसें जाती है, जिनके द्वारा स्वामी केशवानंद जी के मुख्य उद्देश्य ‘गावों के बच्चों को शिक्षित करना’, को पूरा होता देखा जा सकता है। सर्वप्रथम विद्यालय सर छोटू राम स्मारक संग्रहालय के ऊपर सात कमरों और एक दीर्घा में शुरू हुआ था। छात्र संख्या में विस्तार के साथ ही विद्यालय में नये कक्षा-कक्षों, प्रयोगशालाओं का निर्माण होता रहा है। इस समय विद्यालय में 32 कक्षाकक्ष, 4 प्रयोगशालाएं, पुस्तकालय, कम्पयूटर लैब, केन्टीन भंडार और प्रशासनिक भवन है। विद्यालय में बड़ा खेल मैदान, बास्केटबाल कोर्ट, बालीबाल, बैडमिंटन,टेबल टेनिस के कोर्ट और कई इंडोर तथा आउट डोर खेलों की सुविधा उपलब्ध है। हरा भरा वातावरण , जेनरेटर आदि है।

इस विद्यालय में केशव रंगशाला भी है। इसमें 100 दर्शकों के बैठने की सुविधा है। विद्यालय के सांस्कृतिक साहित्यक कार्यक्रमों के अलावा संस्था से बाहर के आयोजक भी यहां अपने कार्यक्रम आयोजित करते हैं।गुणवत्तापूर्ण शिक्षण के लिये शिक्षण प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित होते रहे हैं। विद्यालय में शिक्षा के आधुनिकतम साधनों के साथ आधुनिक तकनीक का प्रयोग किया जाता है। इसके लिये विद्यालय में कंप्यूटरों की श्रृंखला हैं और अनेक शैक्षिक गतिविधियों को कंप्यूटरीकृत किया हुआ है।

विद्यालय में वार्षिक, मासिक एवं साप्ताहिक विशिष्ट गतिविधियां भी आयोजित की जाती है। यथा-

1. अन्तर सदनीय खेलकूद, भाषण, वाद-विवाद प्रतियोगिताएं आदि।
2. वार्षिक खेल दिवस
3. वार्षिक समारोह
4. वार्षिक प्रर्दशनी इत्यादि
5. राष्ट्रीय त्यौहार
6. वृक्षारोपण दिवस (13 सितम्बर)
विद्यालय के नर्सरी विंग में प्ले ग्रुप , एल.के.जी ओर यू.के.जी के बच्चों को सभी सुविधाएं उपलब्ध है। इस अनुभाग में 200 छात्र-छात्राएं हैं ,जो 3 वर्ष से 6 वर्ष तक के है। इस विभाग में 8 शिक्षक तथा 4 सहायक कर्मचारी हैं। विद्यालय में पढाएं जा रहे सभी विषय- कला, विज्ञान, वाणिज्य संकाय तथा +2 तक सीबीएसई से मान्यता प्राप्त है।

वि़द्यालय के पास 10 बसें है। जो संगरिया शहर के अलावा गांवों से बच्चों को लाने व ले जाने का नियमित रूप से कार्य कर रही है। विद्यालय में आर्ट, सांईस , कामर्स सभी विषयों का नियमित रूप से अध्ययन करवाया जाता है। विद्यालय में पढाई के साथ-साथ खेलकूद गतिविधियों पर भी विशेष ध्यान दिया जाता है बच्चों ने राष्ट्रीय स्तर के खेलों में नाम किया है।

विद्यालय में समय समय पर महत्वपूर्ण अतिथि पधारे हैं। यथा-

1. वर्ष 1996 स्थापना दिवस पर श्री ललित किशोर चतुर्वेदी संस्था में आए और विद्यालय का भ्रमण /अवलोकन किया।
2. चौ. ओमप्रकाश चौटाला, पूर्व मुख्यंमत्री हरियाणा सरकार संस्था के कार्यक्रम में भाग लेने आने पर विद्यालय में आए।
3. विद्यालय के बच्चे अंतर्राष्ट्रीयस्तर पर स्काउट-गाइड में भाग लेने पर जिला कलेक्टर टी.रविकांत, व जिला शिक्षा अधिकारी रामसिंह बच्चों को आशीर्वाद देने आए।
4. विद्यालय के वार्षिक उत्सव में श्री राजेन्द्र सिंह राठौड़, सार्वजनिक नि र्माण मंत्री, श्री अभिषेक जी मटोरिया, विधायक नोहर , राजेन्द्र जी मम्लास जिला प्रमुख हनुमानगढ आए थे।
5. विद्यालय के प्रांगण में ग्रामोत्थान विद्यापीठ के वार्षिक उत्सव में अध्यक्ष महोदय,चै.अभय सिंह चौटाला के साथ प्रो.सम्पत सिंह पूर्व वितमंत्री हरियाणा सरकार पधारे थे।
6. श्री निहालचंद, सांसद, वार्षिक उत्सव व दूसरी मंजिल भवन का उद्घाटन करने आए। व श्री अभिषेक जी मटोरिया,विधायक, चूरू सांसद श्री रामसिंह जी कस्वां पधारे थे।
7. विद्यालय में पुस्तक मेला लगाया जिसमें तत्कालीन जिला कलेक्टर हनुमानगढ श्री पीसी किशन आए और संग्रहालय का अवलोकन किया।

विद्यालय में दिनों दिन विकास हो रहा है। कुछ भावी योजनाएं-

1. इंडोर स्टेडियम बनाना।
2. बच्चों के लिये मिनी स्वीमिंग पुल।
3. नये सत्र में एक नई बस क्रय करना।
4. +1 व +2 कृषि संकाय विषय खोलना।
5. चार कमरे दूसरी मंजिल, डिग्गी के पास बनवाये जाने।
6. सांइस लैब के लिये नये कमरे बनावाना।
राष्ट्रीय स्तर खेलकूद-प्रतियोगिता में भाग लेने वाले छात्र 1. 2009-10 नीशेन्द्र पाल राष्ट्रीय स्तर शॉटपुट
2. 2010-11 विश्वेन्द्र पूनिया राष्ट्रीय स्तर बालीबॉल
3. 2010-11 प्रतीक ढाका राष्ट्रीय स्तर बास्केट बॉल
4. 2014-15 कार्तिक चौधरी, राष्ट्रीय स्तर बास्केट बॉल
5. 2015-16 मोहित श्योराण, राष्ट्रीय स्तर बास्केट बॉल


जिला स्तर के बास्केटबाॅल टूर्नामेंट 2016-17 में 14 वर्षीय में गोल्ड मेडल एवं 17 वर्षीय में सिल्वर मेडल ।

अंतर राष्ट्रीय स्काउट गाइड में भाग लेने वाले-

1. 2004 - अंतर्राष्ट्रीय जम्बुरी 6 स्काउटर मौसम शर्मा, सतेन्द्र सिंह, अंकित गोदारा, मनीष बंसल, संदीप माडन पाक्स्तिान भाग लेने गये।
2. 2007- अजय सिंह सिद्धू एवं भावेश तूर , वल्र्ड स्काउट जम्बूरी, इंग्लैंड।
3. 2011- अंगिदपाल सिद्धु, स्वेडन अंतर राष्ट्रीय जम्बूरी में भाग लेने गया।