About Swami Keshwanand Ji

स्वामी केशवानन्द ऐसे अनोखे साधु थे जिन्होंने आत्म-कल्याण या मोक्ष-प्राप्ति के स्वार्थमय पथ पर चलने की अपेक्षा आजीवन ब्रह्मचारी रहते हुए पर-सेवा और लोक-कल्याण में लगे रहना श्रेयस्कर समझा। उसी को उन्होेंने पूजा-पाठ, तप-जप और ध्यान-समाधि बनाया। उस खाली हाथ फकीर ने जन-सहयोग से करोड़ों रूपए की शिक्षा-संस्थाएं खड़ी कर दीं और 64 वर्ष के लोक-सेवा-काल में जन-जागरण का जो विशाल कार्य किया उसका मूल्य तो रूपयों में आंका ही नहीं जा सकता। राजस्थान की ओर से चुने जाकर सन् 1952 से 1964 तक वे दो बार संसद सदस्य (राज्य सभा) रहे और उस काल में उन्हें जो भत्ता मिला उसे उन्होंने ग्रामोत्थान विद्यापीठ के संग्रहालय के विस्तार में लगा दिया।

Messages

President's Message

चौ.अभय सिंह चौटाला, अध्यक्ष, ग्रा.वि.संगरिया, (नेताप्रतिपक्ष, हरियाणा विधानसभा)
ग्रामोत्थान विद्यापीठ संगरिया से हमारा चार पीढियों से संबंध रहा है। शिक्षा का हमारा आधार इस संस्था के स्कूल रहे हैं। सन् 1996 में मैंने जन आग्रह को स्वीकार करते हुए प्रबंध समिति के अध्यक्ष का पद ग्रहण किया था। मुझे खुशी है कि मतदाता सदस्यों ने मुझे सर्वसम्मति से अध्यक्ष निर्वाचित किया। संस्था में आने का मेरा और प्रबंध समिति.....

Read More

GV Center Office

केन्द्रीय कार्यालय ,ग्रामोत्थान विद्यापीठ, संगरिया की स्थापना 1962 में हुई थी। उस समय तक संस्था के कई विभाग शुरू हो गये थे। उनके समन्वय एवं सुसंचालन के लिये एक कार्यालय की तब जरूरत महसूस हुई थी। यह संस्था का मुख्य कार्यालय और प्रबंध समिति ग्रा.वि. संगरिया का कार्यालय भी है। पहले यहां नियुक्त कर्मचारियों के वेतन पर राज्यसरकार के शिक्षा विभाग से 80 प्रतिशत अनुदान प्राप्त होता था। सन् 2011 में...

Read More

Secretary's Message

श्री सुखराज सिंह सलवारा, सचिव, ग्रा.वि.संगरिया

सन् 1997 में मुझे प्रबंध समिति के सदस्यों ने कोषाध्यक्ष पद पर सर्वसम्मति से निर्वाचित किया था। बीस वर्ष में मेरे द्वारा किये गये कार्याें के फलस्वरूप प्रबंध समिति के नवनिर्वाचित सदस्यों ने मुझे अब सर्वसम्मति से सचिव पद पर चयनित किया है। इसके लिये मैं प्रबंध समिति के अध्यक्ष माननीय चै. अभय सिंह चौटाला और समस्त सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। ...

Read More

News & Updates